विधानसभा में रुबिका हत्या पर हंगामा

स्पीकर रबींद्रनाथ महतो ने शोक व्यक्त करने के बाद सदन की कार्यवाही की स्थगित
सीएम ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा लाश पर राजनीति नहीं करे
रांची। झारखंड विधानसभा के पांच दिवसीय शीतकालीन सत्र के पहले दिन आज साहिबगंज की रुबिका पहाड़िया की हत्या का मामला छाया रहा। शोक प्रकाश के दौरान भी भाजपा विधायकों ने इसे लेकर जमकर हंगामा किया। सदन के बाहर और अंदर भाजपा विधायकों ने आक्रोश प्रदर्शन किया। हालांकि स्पीकर रबींद्रनाथ महतो निधन पर शोक प्रकट करने के दौरान उनसे शांत होने की अपील करते रहे। इसके बाद कल मंगलवार सुबह 11 बजे तक सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गयी। झारखंड विधानसभा के शीतकालीन सत्र की कार्यवाही शुरू होते ही भाजपा के विधायक साहिबगंज के बोरियो में आदिम जनजाति रुबिका पहाड़िया की हत्या को लेकर उग्र हो गए और जमकर हंगामा किया। सदन की कार्यवाही से पहले भी भाजपा के विधायकों ने हाथों में तख्तियां लेकर विरोध प्रदर्शन किया। सदन में शोक प्रकाश के दौरान हंगामा को लेकर स्पीकर रबींद्रनाथ महतो उन्हें समझाते रहे कि ये शोक प्रकाश का वक्त है, शांत रहें। शोक प्रकाश की गंभीरता को समझें, लेकिन आक्रोशित भाजपा विधायक शांत नहीं हुए। एक तरफ विधायक व मंत्री निधन पर शोक व्यक्त कर रहे थे, दूसरी तरफ भाजपा के विधायक आक्रोश व्यक्त कर रहे थे।
कई लोगों के निधन पर व्यक्त किया गया शोक
पिछले दिनों जिन गणमान्य का निधन हो चुका है, उनके निधन पर सदन में शोक प्रकट किया गया। सदन में सबा अहमद, देवीधन बेसरा, रजनीश आनंद, अरुण कुमरा, अमिताभ चौधरी, पूर्व मंत्री समरेश सिंह, जस्टिन केरकेट्टा, पंडित गोपाल प्रसाद, डॉ जेजे इरानी, मैनेजर पांडेय समेत अन्य की मौत पर शोक व्यक्त किया गया। इस दौरान विधायक विरंची नारायण एवं अमित कुमार यादव ने साहिबगंज में रेबिका पहाड़िया की हत्या पर शोक प्रकट किया। विधायक सरयू राय ने इस दौरान साहिबगंज और दुमका में हत्या पर शोक प्रकाश जताया। उन्होंने कहा कि इनकी दिवंगत आत्मा को शांति मिले।
लाश पर नहीं करें राजनीति : मुख्यमंत्री
सीएम सीएम हेमंत सोरेन ने साहिबगंज की बेटी रेबिका पहाड़िया की हत्या पर भाजपा विधायकों द्वारा सदन में हंगामा पर कहा कि लाश पर राजनीति अच्छी बात नहीं है। लाश पर सियासत नहीं होनी चाहिए। शोक प्रकाश और हत्या पर हंगामा के बीच स्पीकर रबींद्रनाथ महतो ने मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी।

रुबिका मर्डर केस को जाति से नहीं जोड़ना चाहिए : इरफान अंसारी
रांची। कांग्रेस नेता इरफान अंसारी ने कहा है कि साहिबगंज के बोरियो में जो घटना हुई, उसकी जितनी भी निंदा की जाय, कम है। उन्होंने कहा कि इस मामले को जाति से नहीं जोड़ना चाहिए। जो लोग भी ऐसी घटना को अंजाम देते हैं। उनके खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। इरफान अंसारी ने दिलदार जैसे लोगों को साइको करार दिया। उन्होंने कहा कि बोरियो में रुबिका पहाड़िन के साथ जो कुछ भी हुआ, उसकी वह कड़ी निंदा करते हैं। उन्होंने कांग्रेस में जारी अंदरूनी कलह पर भी अपनी बात रखी। कहा कि पार्टी में कोई कलह नहीं है, कुछ लोगों में नाराजगी है, उसे जल्द ही दूर कर लिया जायेगा। इरफान अंसारी ने कांग्रेस में जारी उठापटक से संबंधित एक सवाल के जवाब में कहा कि हमें कांग्रेस पार्टी को मजबूत करना है। हमारी लड़ाई भाजपा से है। हमें आपस में नहीं लड़ना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *