राज्य के तीन स्कूलों को मिला राष्ट्रीय स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार, झारखंड को तीसरा स्थान

पुरस्कृत होने वाले स्कूलों में कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय, नोवामुंडी और रांची
पूर्वी सिंहभूम के टाटा वर्कर्स यूनियन हाई स्कूल, कदमा भी सम्मानित
देशभर के कुछ 39 स्कूलों में झारखंड के तीन स्कूल पुरस्कृत किये गये

रांची। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने झारखंड के तीन स्कूलों को स्वच्छ विद्यालय राष्ट्रीय पुरस्कार देकर सम्मानित किया। दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष सरकार ने विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को यह पुरस्कार प्रदान किया। झारखंड के जिन तीन विद्यालयों को यह पुरस्कार मिला, उनमें पश्चिमी सिंहभूम के कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय, नोवामुंडी। रांची के कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय, सोनाहातू और पूर्वी सिंहभूम के टाटा वर्कर्स यूनियन हाई स्कूल, कदमा शामिल हैं। कार्यक्रम में केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री राजकुमार रंजन सिंह भी उपस्थित थे। केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष सरकार ने बताया कि देशभर के 8.23 लाख स्कूलों ने इस पुरस्कार के लिए आनलाइन निबंधन कराया था। जिनमें 39 स्कूलों का चयन अंतिम रूप से हुआ। इनमें 34 स्कूलों का चयन ओवरआल तथा पांच का चयन सब कैटेगरी में इस पुरस्कार के लिए हुए।

देशभर में कुल 39, झारखंड में 3 विद्यालयों को मिला ये पुरस्कार
इन सभी स्कूलों को ओवरआल श्रेणी में पुरस्कार मिले हैं। देशभर के कुल 39 स्कूलों को स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार मिला। जिनमें तीन झारखंड के हैं। प्रत्येक स्कूलों को पुरस्कार के रुप में 60 हजार रुपये दिये गये। इस पुरस्कार के लिए झारखंड सरकार ने 26 स्कूलों की अनुशंसा भेजी थी, जिनमें तीन स्कूलों का चयन हुआ।

गुजरात और पुडुचेरी के बाद तीसरे स्थान पर झारखंड
केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा आयोजित स्वच्छ विद्यालय राष्ट्रीय पुरस्कार में सबसे अधिक स्कूलों को पुरस्कार मिलने के मामले में झारखंड, गुजरात और पुडुचेरी के बाद तीसरे स्थान पर रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *