सुजीत को मिला मलेशिया-भारत गौरव और मलेशिया काव्य सम्मान

झारखंड खोरठा साहित्य संस्कृति परिषद के सचिव हैं सुजीत कुमार

रांची। मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर पहुंचे झारखंड खोरठा साहित्य संस्कृति परिषद के सचिव सुजीत कुमार को मलेशिया भारत-गौरव सम्मान और मलेशिया काव्य सम्मान से सम्मानित किया गया है। उन्हें सम्मान स्वरूप प्रशस्ति पत्र, प्रतीक चिन्ह भेंट कर शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। नेताजी सुभाष चंद्र बोस इंडियन कल्चरल सेंटर हाई कमीशन आॅफ इंडिया कुआलालंपुर, मलेशिया और साहित्य संचय शोध संवाद फाउंडेशन नई दिल्ली के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस दो दिवसीय समारोह में उनको राष्ट्रीय साहित्य संचय शोध संवाद फाउंडेशन के राष्ट्रीय सचिव सुमन रानी, केंद्रीय हिंदी संस्थान शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर उमा शंकर दीक्षित, साहित्य संचय शोध संवाद फाउंडेशन के अध्यक्ष मनोज कुमार, जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान पाली फरीदाबाद के बलवंत सिंह और अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि एवं मेंटार मारवाड़ी युवा मंच कुआलालंपुर, मलेशिया के अंजू पुरोहित ने सम्मानित किया। समारोह में मुख्य अतिथि मलाया विश्वविद्यालय के डीन कला एवं सामाजिक विज्ञान विभाग प्रोफेसर डेनी वांग तेज कान और अतिथि के रूप में सामाजिक विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. मणिमरण सुब्रमण्यम शामिल हुए। इसके पूर्व इस समारोह में सुजीत कुमार ने भारत मलेशिया के आर्थिक, राजनीतिक एवं सांस्कृतिक संबंधों पर अपने विचार रखे। उन्होंने काव्य पाठ भी किया। समारोह के प्रारंभ में अंतरराष्ट्रीय साहित्य संगोष्ठी में उन्होंने आदिधर्म से अन्य भारतीय धर्म का उदय विषय पर शोध पत्र भी प्रस्तुत किया। इस संगोष्ठी में कई देशों और राज्यों के साहित्यकार शामिल हुए। झारखंड से इसमें सुजीत कुमार शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *