पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने फोड़ा वीडियो बम


सीएम के प्रधान सचिव एक्का विशाल चौधरी के आॅफिस से निपटाते थे सरकारी फाइल
रांची। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का पर गंभीर आरोप लगा है। एक्का पर ईडी की गिरफ्त में आये दलाल विशाल चौधरी के आफिस में बैठकर सरकारी फाइलें निपटाने का आरोप है। भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एक वीडियो क्लिप जारी किया है। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव ईडी के अभियुक्त विशाल चौधरी के आफिस में फाइलें निपटा रहे हैं। कहा कि भाजपा इसे लेकर राज्यपाल से मिलेगी और मामले की जांच करने की मांग करेगी। भाजपा ईडी के अधिकारियों को भी सारे साक्ष्य सौंपेगी और मामले की जांच की मांग करेगी। बाबूलाल मरांडी ने मांग की है कि मुख्यमंत्री अविलंब राजीव अरुण एक्का को पद से हटायें और उन पर एफआईआर दर्ज करायें।


वीडियो में किया जा रहा है पैसे का जिक्र
बाबूलाल मरांडी ने कहा-जारी वीडियो क्लिप विशाल चौधरी के कार्यालय का है। वीडियो में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव ईडी अभियुक्त विशाल चौधरी के आफिस में सरकारी काम का निपटरा कर रहे हैं। सरकार के प्रधान सचिव ने बेशर्मी की सारी सीमाओं को लांघ दिया। वीडियो में दिख रही महिला कोई सरकारी अधिकारी नहीं बल्कि विशाल चौधरी की प्राइवेट कर्मचारी है। वीडियो में एक आवाज भी साफ सुनाई दे रही है, जिसमें पैसे का जिक्र किया जा रहा है। मरांडी ने कहा कि प्रधान सचिव और गृह विभाग के सचिव इस तरह के काम कैसे कर सकते हैं। इस वीडियो को देखकर कल्पना की जा सकती है कि सरकार के अन्य विभागों में किस तरह से काम हो रहे होंगे। इसकी जांच होगी तो हैरान करने वाली तस्वीर सामने आयेगी।


मुख्यमंत्री हेमंत खुद पूरे मामले की जांच सीबीआई से करायें : बाबूलाल
बाबूलाल मरांडी ने कहा कि मुख्यमंत्री की सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मियों की दो-दो एके-47 प्रेम प्रकाश के घर से मिली थी। अब राजीव अरुण एक्का ईडी के अभियुक्त विशाल चौधरी के कार्यालय में फाइलों का निपटारा करते दिख रहे हैं। आगे कहा कि राज्य में और भी ऐसे अधिकारी हैं, जो भटाचार में पूरी तरह से लिप्त हैं। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन कहते हैं कि हम आदिवासी हैं, इसलिए भाजपा हमें फंसाने का काम कर रही है। लेकिन अगर मुख्यमंत्री दोषियों को बचाने का काम करेंगे तो उच्च एजेंसियां जांच करेंगी। बाबूलाल मरांडी ने मांग की कि मुख्यमंत्री सोरेन खुद पूरे मामले की जांच सीबीआई से करायें। कहा कि इस मुद्दे पर भाजपा का शिष्टमंडल राज्यपाल से मिलकर जांच कराने की मांग करेगा। साथ ही बीजेपी ईडी के अधिकारियों से मिलेगी और साक्ष्य सौपेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *