वन विभाग की लापरवाही: भूख से भटकते हाथी की करंट से मौत

तीनों दिनों से खाना के लिए भटक रहा था सात हाथियों का झुंड, विभाग रहा मौन

जमशेदपुर। जादूगोड़ा स्थित राखा वन क्षेत्र के बगलासाई गांव के निकट हाईटेंशन की चपेट में आने से एक हाथी की मौत हो गई। घटना सोमवार की मध्यरात्रि लगभग एक बजे की है। इस घटना ने वन विभाग की लापरवाही को उजागर किया है। ग्रामीणों ने बताया कि जादूगोड़ा व उसके आसपास के क्षेत्र में बीते तीन दिनों से भोजन की तलाश में भटक रहे विशाल हाथी की 11 हजार वोल्ट की चपेट में आने से मौत हो गई। सुबह ग्रामीणों की नजर हाथी पर पड़ी, जिसकी सूचना क्षेत्र के रेंजर विमद कुमार को दी गई। ग्रामीणों ने बताया कि हाथियों के भटकने की सूचना पहले ही वन विभाग को दी गयी थी पर वन विभाग ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की। हाथियों का झुंड पिछले तीन दिनों से जादूगोड़ा थाना क्षेत्र के भाटीन पंचायत के मेंचुआ, जाहिरा घूटू और भाटीन गांव के समक्ष डेरा जमाए हुए था। कल देर रात्रि जाहिरा घुटु में भ्रमण करते देखा गया। जहां से ग्रामीणों ने फटाखे फोड़ कर भागने की कोशिश की गयी। भागने के क्रम में यह हादसा हुआ। खेत के बीच से 11 हजार का बिजली तार के नीचे झूलने की वजह वह इसकी चपेट में आ गया। कुल सात की संख्या में हाथी कोवाली थाना क्षेत्र से पलायन कर इस क्षेत्र में बीते तीन दिनों से भ्रमण कर रहे थे। लेकिन वन अधिकारियों ने सूचना के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की, जिसका नतीजा है कि एक हाथी की जान चली गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *