न्यू स्टशेन कॉलोनी के 300 दुकानों पर रेलवे की चली बुलडोजर


डीआरएम कार्यालय के बाहर दुकानदारों ने किया प्रदर्शन और नारेबाजी
कार्यालय में डीआरएम के साथ बैठक कर रहे थे सांसद, बाहर हो हंगामा

धनबाद। धनबाद के डीआरएम आॅफिस में सांसदों के साथ रेल महाप्रबंधक की बैठक शुरू होते ही बाहर हंगामा शुरू हो गया है। सैंकड़ों की संख्या में फुटपाथ दुकानदार डीआरएम कार्यालय पहुंच गए और गेट पर प्रदर्शन और नारेबाजी करने लगे। डीआरएम कार्यालय को आरपीएफ ने घेराबंदी कर प्रदर्शन कर रहे लोगों को अंदर जाने से रोका। अंदर जाने को लेकर आरपीएफ और प्रदर्शनकारियों में तनातनी भी हो गयी। उनका प्रदर्शन धनबाद स्टेशन से सटे न्यू स्टेशन कॉलोनी की 300 से ज्यादा फुटपाथ दुकानों पर रेलवे की ओर से चलाए जा रहे बुलडोजर के खिलाफ है। रेलवे ने तीन नवंबर को ही न्यू स्टेशन की अवैध फुटपाथ दुकानों को हटने का नोटिस जारी कर दिया था। दुकन संचालकों को 10 दिनों की मोहलत दी गई थी। मोहलत की मियाद पूरी होते ही आज आरपीएफ और इंजीनियरिंग विभाग की टीम पहुंची और फुटपाथ दुकानों को खाली कराना शुरू कर दिया। रेलवे की कार्रवाई से दुकान संचालकों में खलबली मच गई। फुटपाथ दुकानदारों ने विरोध किया पर आरपीएफ की सख्ती के आगे उनकी नहीं चली। फिर समूह बनाकर डीआरएम कार्यालय पहुंच गए और नारेबाजी शुरू कर दी। नारेबाजी कर रहे दुकानदार सांसद, रेल महाप्रबंधक और डीआरएम से मिलने की जिद कर रहे हैं। आरपीएफ ने उन्हें मुख्य द्वार पर ही रोक दिया है। न्यू स्टेशन कॉलोनी की फुटपाथ दुकानें लगभग 50 साल से चल रही हैं। रेडिमेड कपड़ों की दुकानों के साथ जूते, घड़ी, मोबाइल, बर्तन समेत दूसरी रोजमर्रा की वस्तुओं की दुकानें यहां सजी हैं। कुछ दिन पहले ही पुराना बाजार रेलवे फाटक के पास चार नई दुकानें बन रही थीं। जिसकी शिकायत डीआरएम से की गई थी। उसके बाद से ही रेलवे ने अपनी जमीन से फुटपाथ दुकानों को हटाने की तैयारी शुरू कर दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *