स्कूलों में पढ़ाई और व्यवस्था के निरीक्षण के लिये बनाये गये नोडल पदाधिकारी

विभागीय सचिव ने जारी किया आदेश, जिला शिक्षा अधीक्षक करेंगे मानिटिरिंग

रांची। राज्य सरकार ने स्कूलों में पढ़ाई सहित अन्य व्यवस्था में सुधार के लिए निरीक्षण की योजना बनायी है। राज्य सरकार के निर्देश पर स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने विद्यालय और कार्यालयों के निरीक्षण के लिए पदाधिकारियों को जिम्मेवारी सौंपी है। विभाग की ओर से जिलावार नोडल पदाधिकारी बनाया गया है। इस संबंध में शिक्षा सचिव के रवि कुमार ने आदेश जारी कर दिया है। जारी आदेश में कहा गया है कि विभाग के अंतर्गत विद्यालयों एवं क्षेत्रीय कार्यालयों में राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं, विद्यालय संचालन, मध्याह्न भोजन योजना, छात्र शिक्षकों की उपस्थिति, प्रयोगशाला, पुस्तकालय अधिगम वृद्धि एवं मूल्यांकन, पेंशन आदि कार्यो का सतत निरीक्षण/पर्यवेक्षण अतिआवश्यक है। पूर्व की भांति विद्यालयों/कार्यालयों का निरीक्षण/पर्यवेक्षण कर प्रतिवेदन समर्पित करने के लिए पदाधिकारियों को उनके नाम के सामने अंकित जिला का नोडल पदाधिकारी नामित किया गया है। संबंधित पदाधिकारी जिला भ्रमण के क्रम में आवंटित जिला के विद्यालयों एवं क्षेत्रीय कार्यालयों का निरीक्षण और समीक्षा करेंगे। पत्र में कहा गया कि यथासंभव भ्रमण के दिनों के लिए शुक्रवार एवं शनिवार को प्राथमिकता दी जा सकती है। निरीक्षण कार्य का प्रारंभ इसी माह से किया जायेगा। प्रत्येक माह में कम से कम एक भ्रमण किया जाना आवश्यक होगा। जिन पदाधिकारियों को विभागीय वाहन उपलब्ध है। वे भ्रमण के लिए विभागीय वाहन का उपयोग करेंगे। जिन पदाधिकारियों को भ्रमण के लिए वाहन की आवश्यकता है। उनके लिए वाहन की व्यवस्था झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद्, रांची कार्यालय से की जाएगी। पत्र में कहा गया कि जो पदाधिकारी ट्रेन से भ्रमण करना चाहेंगे, उनके लिए जिला में भ्रमण के लिए वाहन की व्यवस्था संबंधित जिला शिक्षा अधीक्षक के द्वारा की जाएगी। जरूरत के अनुसार पदाधिकारियों के ठहरने के लिए भी उचित व्यवस्था परिसदन इत्यादि में की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *