धर्म बदल चुके आदिवासियों को एसटी के लाभ से वंचित कराना जरूरी : सोमा

जनजातीय सुरक्षा मंच ने मोरहाबादी से निकाली रैली, राज्यपाल के नाम प्रेषित ज्ञापन सौंपा

रांची। धर्म बदल चुके आदिवासियों को एसटी के लाभ से वंचित कराने के उद्देश्य से आदिवासी सुरक्षा मंच ने रैली निकाली। आरएसएस से जुड़े आदिवासी संगठन जनजातीय सुरक्षा मंच के बैनर तले आज डिलिस्टिंग रैली का आयोजन किया गया। रैली रांची कॉलेज मैदान से शुरू हुई। रैली रेडियम रोड, कचहरी रोड होते हुए राजभवन तक पहुंची। रैली में शामिल लोग धर्म बदल चुके आदिवासियों को एसटी के लाभ से हटाने की मांग से संबंधित नारे लगा रहे थे। रैली राजभवन के पास प्रदर्शन और नारेबाजी करने के बाद वपास रांची कॉलेज मैदान पहुंची। जहां जनसभा का आयोजन किया गया। जनजातीय सुरक्षा मंच के सोमा उरांव ने बताया कि वे आदिवासियों के धर्मांतरण के हमेशा खिलाफ रहे हैं। उनके सपनों को पूरा करने का बीड़ा मंच ने उठाया है। आदिवासी समाज से जुड़े जो लोग अपनी धर्म संस्कृति, रीति-रिवाज, रूढ़ीवादी परंपरा छोड़ कर ईसाई, मुस्लिम धर्म में जा चुके हैं। उन्हें अनुसूचित जनजाति की श्रेणी से बाहर करना और मिल रहे एसटी का लाभ से वंचित किया जाना जरूरी है। क्योंकि वे आदिवासियों का हक मार रहे हैं। आरोप लगाया कि ऐसे लोग जनजातियों के मिलने वाले लाभ का 80 प्रतिशत हिस्से पर कब्जा कर रहे हैं। कहा कि अब ऐसा होने नहीं दिया जायेगा। सभा के समाप्ति के बाद मंच का एक प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन सौंप कर कार्रवाई की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *